Blog


Naya Saal... Naye Sapne... Nayi Ummeede...

Posted on 20-Aug-2018 11:59 AM

नया साल.. नये सपने.. नयी उम्मीदें..

आप सभी को पूरे तारा परिवार की तरफ से नये साल 2018 की ढेर ढेर शुभ- कामनाएँ। इस साल की सबसे खूबसुरत बात है कि आप और हम मिलकर उन बुजुर्गों को एक ऐसा उपहार देने जा रहे हैं जिन्हें एक प्यार भरा हाथ चाहिये जो उनके जीवन के अंतिम सफर को आसान बनाए। जी हाँ, नया आनन्द वृद्धाश्रम जिसका उद्घाटन 22 अप्रेल, 2018 को होने जा रहा है। हमारे प्रिय बाबूजी यानी कि नारायण सेवा संस्थान के प्रेरणास्रोत डॉ. कैलाश जी ‘मानव’ ने कुछ ऐसी कार्यशैली विकसित की हैं कि किसी भी बड़े अवसर की दिनांक तय कर लो फिर उसे टारगेट मानकर कार्य करो। तो बस 22 अप्रेल, 2018 तय की और अब ये भवन का काम उसके अनुसार चल रहा है। सबको पता है कि उद्घाटन दिनांक क्या है तो उसी गति से सारी एजेसियाँ काम कर रही हैं।
सिविल कार्य लगभग खत्म है। आगे के एलीवेशन का काम चल रहा है। बाथरूम की दीवार की टाइलें लग गई हैं। फर्श पर लग रही हैं। छत पर कड़ा दब रहा है। पानी की टंकी बन गई है। आगे की बाउंड्रीवाल का काम भी चल रहा है। अभी अपने आनन्द वृद्धाश्रम के रहने वाले कालू लाल जी जैन तराई का काम करते हैं उनमें उम्र के हिसाब से थोड़ी ज्यादा ही ऊर्जा है। उनको वहाँ देखता हूँ तो यही विचार आता है कि कोई व्यक्ति अपने जीवन में एक घर बनाता है तो उसे सबसे ज्यादा सुख तराई करने में आता है तो कालू लाल जी सारे वृद्धाश्रम निवासियों के ठमींसि पर ये सुख ले रहे हैं। 
नये भवन के लिए लिफ्ट का ऑर्डर दे दिया है जो कि ैबीपदकसमत कंपनी की है जो विश्व में सबसे अच्छी और सुरक्षित लिफ्ट में आती है। डी.जी. सेट का ऑर्डर भी दे दिया है। दरवाजे फ्लश डोर हैं जिनमें एक कांच की पट्टी भी होगी ताकि कोई बुजुर्ग अंदर फंस जाये तो कांच तोड़कर कुंडी खोली जा सके। खिड़कियाँ एल्युमिनियम की हैं जिनमें जाली भी है और काँच भी तो हवा और रोशनी दोनों का इंतजाम है। वैसे भी अपना भवन पूर्व मुखी है तो सुबह सुबह सूर्य देवता के दर्शन बालकनी से होगें। भवन के चारों तरफ खिड़कियाँ हैं तो ब्तवे टमदजपसंजपवद भी अच्छा है। बिजली के तार डल गए हैं। स्विच व लाइटें अगले 15-20 दिन में तय होंगी। फर्निचर की ड्राईंग आ गई हैं अब एक सैंपल बनकर आएगा और हमारी और आर्किटेक्ट की मंजूरी के बाद काम शुरू होगा। रसोईघर भी पूरा स्टील का होगा यानी की भट्टिया, वर्क टेबल, सिंक सब स्टील के होंगे। डाइनिंग हॉल का फर्निचर अभी तय करना बाकी है। नये भवन में सौर ऊर्जा संयंत्र भी लगाएँगे जिससे कि बिजली के बिल में कमी आए। 
एक सुंदर सा मंदिर भी बन रहा है जिसमें लक्ष्मी नारायण व अन्य भगवान जी विराजेंगे। भवन के बाहर छोटा सा लॉन भी है और एक बहुत बड़ी छत और हाँ लिफ्ट छत तक जाएगी तो जो बुजुर्ग खुले आसमान का आनन्द लेना चाहें ले लेंगे। नवसृजन हमेशा आनन्द देता है और ऐसा सृजन जो परहित में हो और भी सुखमय होता है। आप सबका सहयोग है कि अप्रेल, 2018 में ये भवन बन जाएगा। आपसे यह भी त्मुनमेज है कि इसके उद्घाटन पर संभव हो तो अवश्य पधारें और आने की सूचना हमारे फोन नं. 9549399993 पर दे देवें कि आप कब और किस साधन से आ रहे हैं ताकि हम आपके आवास व अन्य व्यवस्थाएँ यथोचित कर सकें।
एक भवन बनता है तो उसके निर्माण का जो सुख होता है उसी का कुछ अंश आप तक भी पहुँचाने का प्रयास किया है क्योंकि आप सब के सहयोग के बिना सारे सपने अधूरे थे लेकिन कहीं-न-कहीं आपकी और हमारी सोच एक ही थी कि किसी का भला होवें और इस सोच ने सुंदर परिणाम दे दिया.... नया ‘‘आनन्द वृद्धाश्रम’’
वर्ष 2018 आपके और परिवार के लिए सुख, समृद्धि और स्वास्थ्य से परिपूर्ण होवें, ईश्वर से यही प्रार्थना है।
आदर सहित

दीपेश मित्तल

Blog Category

WE NEED YOU! AND YOUR HELP
BECOME A DONOR

Join your hand with us for a better life and beautiful future